NIRD&PR

Skip Navigation Links

सामाजिक लेखा परिक्षक केन्द्र

अधिदेश

सामाजिक अंकेक्षण एक उभरती हुई अवधारणा है जो सुशासन के संदर्भ में लोकप्रिय और प्रासंगिक हो गयी है। इसकी व्यवस्थित प्रक्रिया के माध्यम से सामाजिक अंकेक्षण नागरिक समाज कार्यान्वित एक परियोजना / कार्यक्रम / सेवाओं के वांछित और वास्तविक प्रभाव के बीच के अंतर की पहचान करने की स्वीकृति देता है। यह भी लोगों को सरकारी सेवा प्रदान करने में जवाबदेही और पारदर्शिता को लागू करने की अनुमति देता है। क्यूँ की सामाजिक अंकेक्षण सुशासन एक उभरती हुई अवधारणा है, इसीलिए उसकी अवधारणाओं, दृष्टिकोण, रणनीतियों और अनुकूलनीय को प्रचारित और प्रसारित किए जाने की जरूरत है। इस प्रकार, सामाजिक अंकेक्षण के लिए एक केंद्र की आवश्यकता है जो सामाजिक अंकेक्षण की प्रक्रिया को बनाए रखने में दिशा-निर्देशों को स्पष्टता प्रदान कर सके ।

सामाजिक अंकेक्षण, संभावित सार्वजनिक कार्यक्रमों के वितरण को और अधिक प्रभावी बनाने में सक्षम है। जबकि प्रक्रिया विकसित हो रही है, एमजीएनआरईजीए के सामाजिक अंकेक्षण से पता चला है कि क्या संभव है। सामाजिक अंकेक्षण - एक पारदर्शी, सहभागी और सक्रिय मूल्यांकित प्रक्रिया है - गरीबी उन्मूलन में बाधा पैदा करने वाले भ्रष्टाचार को समाप्त करने की ताक़त रखता है। सामाजिक जवाबदेही तंत्र के उपकरण के रूप में सामाजिक अंकेक्षण, विकास के कार्यक्रम में अनिवार्य हो गया है। यह केंद्र, विकास कार्यक्रमों और नीतियों के विकास की दिशा में एक व्यापक अंतर-अनुशासनात्मक दृष्टिकोण रखता है। इसलिए केंद्र सरकार के अधिदेश में सामाजिक जवाबदेही तंत्र और विशेष रूप से सामाजिक अंकेक्षण पर ध्यान केंद्रित करना है। अनुसंधान और प्रशिक्षण के अलावा, यह पायलट आडिट, परीक्षण आडिट के आचरण को सुविधाजनक बनाने में विभिन्न सामाजिक अंकेक्षण इकाइयों / गैर सरकारी संगठनों / सीएसओ / कार्यकर्ता समूहों के साथ नेटवर्किंग के द्वारा प्रलेखन, प्रकाशन और विशेष रूप से क्षेत्र में काम करने पर ध्यान केंद्रित करता है

उद्देश्य

  • टी ओ टी / प्रशिक्षण / कार्यशालाओं / सेमिनारों / संवेदीकरण कार्यक्रम / अनावरण दौरे / अंतर्राष्ट्रीय प्रशिक्षण जैसी क्षमता निर्माण गतिविधियों का आयोजन।
  • अभ्यास, रणनीति, प्रभावशीलता और सामाजिक अंकेक्षण और सामाजिक जवाबदेही तंत्र के प्रभाव पर शोध, कार्रवाई अनुसंधान और परामर्श पर अध्ययन ।।
  • सामाजिक अंकेक्षण के संचालन के क्षेत्र में सर्वोत्तम प्रथाओं का प्रलेखन सामाजिक अंकेक्षण और सामाजिक जवाबदेही प्रथाओं पर फिल्मों का विकास करना।
  • पायलट सामाजिक अंकेक्षण और परीक्षण आडिट का कार्य सामाजिक अंकेक्षण इकाइयों के संसाधन व्यक्तियों के साथ हाथ मिलाना ।
  • सामाजिक अंकेक्षण के आचरण और संबंधित योजनाओं के सामाजिक अंकेक्षण को संस्थागत क्षेत्र में व्यवसायी समर्थन के लिए विभिन्न मंत्रालयों / संस्थानों से संपर्क रखना।
  • डिस्टेंस मोड में सामाजिक अंकेक्षण में प्रमाणीकरण कोर्स करना।
  • व्यवसायिओं के लिए एक मंच प्रदान करना।

महत्वपूर्ण क्षेत्र और गुंजाइश

सामाजिक जवाबदेही तंत्र (सहभागी बजटिंग, व्यय ट्रैकिंग, सहभागी के प्रदर्शन की निगरानी, नागरिक चार्टर, सार्वजनिक सुनवाई, पारदर्शिता पोर्टल, लोकपाल, नागरिक रिपोर्ट कार्ड, समुदाय स्कोर कार्ड, सामाजिक अंकेक्षण) सामान्य और विशेष रूप में सामाजिक अंकेक्षण।

  • क्षमता निर्माण और सामाजिक अंकेक्षण और सामाजिक जवाबदेही पर सामाजिक अंकेक्षण इकाइयाँ (राज्य कृषि विश्वविद्यालयों) में संसाधन व्यक्तियों का प्रशिक्षण।
  • सामाजिक अंकेक्षण के महत्व पर ग्रामीण विकास व्यवसायिओं का सुग्राहिकरण
  • अभ्यास, रणनीति, प्रभावशीलता और सामाजिक अंकेक्षण और सामाजिक जवाबदेही तंत्र के प्रभाव पर शोध अध्ययन।
  • सामाजिक अंकेक्षण और सामाजिक जवाबदेही तंत्र के क्षेत्रों में कार्रवाई अनुसंधान।
  • सामाजिक अंकेक्षण के संचालन के क्षेत्र में सर्वोत्तम प्रथाओं का प्रलेखन।
  • सामाजिक अंकेक्षण पर फिल्मों का विकास।
  • ज्ञान प्रबंधन और अंतरराष्ट्रीय प्रशिक्षण कार्यक्रम, अनावरण दौरे को लेकर सामाजिक जवाबदेही के तरीकों पर अन्य देशों के लिए ज्ञान के प्रसार।
  • पायलट सामाजिक अंकेक्षण को एस ए यू के संसाधन व्यक्तियों के साथ दस्ता।
  • उन आदिट्स का निरीक्षण करना, जहां सामाजिक अंकेक्षण प्रमाणीकरण के लिए संस्थागत है और सामाजिक अंकेक्षण को और अधिक प्रभावी बनाता है ।
  • सामाजिक अंकेक्षण के संचालन के क्षेत्र और संस्थागत संबंधित योजनाएं में व्यवसायिओं और आपसी सहयोग के लिए विभिन्न मंत्रालयों / संस्थाओं के साथ सम्बन्ध स्थापित करना।
  • प्रशिक्षकों के प्रमाणीकरण I
  • डिस्टेंस मोड में सामाजिक अंकेक्षण में प्रमाणीकरण कोर्स करना
  • व्यवसायिओंके लिए मंच प्रदान करना।
  • सामाजिक अंकेक्षण पर अभ्यास / समाधान विनिमय के समुदाय के ऑनलाइन आधारित प्रबंधन।
  • निगरानी, मूल्यांकन और सामाजिक जवाबदेही प्रथाओं के प्रभाव का आकलन।

संकाय

डॉ सी धीरजा

सह - प्राध्यापक एवं अध्यक्ष

शैक्षिक योग्यता : पी एच डी (सामाजिक कार्य )
विशेषज्ञ क्षेत्र : ग्रामीण विकास में लैंगिक मुद्दें, बजटिंग, महिलाओं पर एमजीएनआरजीएस के प्रभाव एवं कमजोर तप्‍कों अनुभाग, प्रभाव मुल्‍यांकन अघ्‍ययन ।
ईमेल : dheeraja.nird[at]gov.in
फ़ोन :
परिचय देखें

 

Last Update :